XtraStudy

देश के 14वें राष्ट्रपति बने रामनाथ कोविंद, लेकिन नहीं तोड़ सके प्रणव मुखर्जी का ये रिकॉर्ड

बिहार के पूर्व राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने आज हुई मतों की गिनती में भारी जीत हासिल कर ली है। इसे के साथ कोविंद देश के 14वें राष्ट्रपति चुन लिए गए हैं। उन्होंने यूपीए की उम्मीदवार और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को 66 फीसदी वोटों से मात दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविंद के राष्ट्रपति चुने जाने पर उन्हें बधाई दी। अब 25 जुलाई को रामनाथ कोविंद देश के नए राष्ट्रपति पद की शपथ ग्रहण करेंगे।


पिछली बार 2012 में वर्तमान राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने 69 फीसदी वोट हासिल कर उस दौरान अपने प्रतिद्वंदी पीए संगमा को हराया था। इस बार के राष्ट्रपति चुनाव में कुल 4,896 लोग (4,120 विधायक और 776 निर्वाचित सांसद) वोट देने के लिए पात्र थे। बात में ऐलान किया गया कि रामनाथ कोविंद को कुल 7,02,044 वोट मिले, वहीं मीरा कुमार को 3,67,314 वोट मिले।

आपको बता दें कि वोटों के गिनती चार अलग-अलग टेबल पर हुई, जिसमें कुल 8 राउंड हुए। इस दौरान राज्यों से मतपेटियों को विमान के जरिए संसद भवन तक पहुंचाया गया था। इस बार के राष्ट्रपति चुनाव में संसद भवन के एक मतदान केंद्र सहित विभिन्न राज्यों में 32 मतदान केंद्र स्थापित किए गए थे। इस बार करीब 99 प्रतिशत मतदान हुआ था।

लेकिन भले ही एनडीए के उम्मीदवार रहे रामनाथ कोविंद को 65.35 वोट मिले हों लेकिन भाजपा चाहती थी कि उन्हें 70 फीसदी वोट पड़ें ताकि वह पिछली बार राष्ट्रपति चुनाव में प्रणव मुखर्जी को मिले 69 फीसदी वोट का रिकॉर्ड तोड़ पाएं। हालांकि ऐसा नहीं हो सका।

Post a comment

0 Comments