XtraStudy

अब रसोइया-संयोजिका को डीबीटी से मानदेय भुगतान


अब रसोइया-संयोजिका को डीबीटी से मानदेय भुगतान
गोड्डा : शिक्षक, पारा शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मियों को डाइरेक्ट बेनीफीट ट्रांसफर (डीबीटी) से वेतन व मानदेय भुगतान के बाद स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने सूबे के विभिन्न विद्यालयों में मध्याह्न भोजन निर्माण कार्य से जुड़ी रसोइया व संयोजिका का भी मानदेय भुगतान विभाग डीबीटी योजना से करने जा रही है। इसके लिए विभाग ने पहल शुरू कर दी है। आनेवाले दिनों में रसोइया व संयोजिका को सीधे उनके खाते में राशि हस्तांतरित होगी। इसको ले विभागीय सचिव ने सूबे के सभी जिला शिक्षा अधीक्षकों को जरूरी दिशा निर्देश दिया है।
क्या है डीबीटी योजना : डाइरेक्ट बेनीफीट ट्रांसफर (डीबीटी) सीधे लाभुकों के खाता में राशि हस्तांतरित करने का माध्यम है। इसमें बैंक खाता से लाभुक का आधार नंबर सी¨डग रहता है। जिससे सही लाभुकों के खाते में ही राशि हस्तांतरित होती है। इससे ससमय राशि प्राप्त होने में आसानी होती है। वहीं बिचौलिया तंत्र पर अंकुश लग जाता है। इस व्यवस्था के तहत राशि हस्तांतरण का लेखा-जोखा रखना आसान होता है।
ससमय होगा मानदेय भुगतान : रसोइया संयोजिका को यह शिकायत रहती थी कि उनका मानदेय ससमय भुगतान नहीं होता है और कागजी कार्रवाई में ही कई-कई माह का मानदेय लंबित रह जाता है। जिससे उनके समक्ष आर्थिक संकट भी उत्पन्न हो जाता है। डीबीटी से जुड़ने के बाद उनकी ऐसी शिकायत लगभग समाप्त हो जाएगी। विभाग से ससमय मानदेय का भुगतान उनके खाते में हस्तांतरित हो जाएगा।
3240 रसोइया व 1723 संयोजिका को होगा फायदा : जिले के विभिन्न प्रखंडों गोड्डा, पोड़ैयाहाट, सुंदरपहाड़ी, पथरगामा, बसंतराय, मेहरमा, महागामा, ठाकुरगंगटी व बोआरीजोर में संचालित विभिन्न विद्यालयों में एमडीएम निर्माण कार्य में कुल 3240 रसोइया व 1723 संयोजिका कार्यरत हैं। डीबीटी योजना शुरू होने से इन सभी को फायदा होनेवाला है। विभाग ने सभी रसोइया-संयोजिका को बैंक खाता व आधार पंजीयन सुनिश्चित कर लिया है।
"विभागीय निर्देशानुसार अब रोसइया संयोजिका का मानदेय भी डाइरेक्ट बेनीफीट ट्रांसफर के माध्यम से किया जाएगा। इस व्यवस्था को शुरू करने को ले विभाग प्रयासरत है। रसोइया संयोजिका के बैंक खाते में आधार सी¨डग व मै¨पग को ले बैंकों को प्रपत्र उपलब्ध करा दिया गया है। अगर सब ठीक रहा तो अगले माह से मानदेय डीबीटी से भुगतान किया जाएगा।"
- अशोक कुमार झा, जिला शिक्षा अधीक्षक,गोड्डा

Post a comment

0 Comments