XtraStudy

ठाकुरगंगटी में वार्षिक पूजा में उमड़ी भीड़

ठाकुर गंगटी : प्रचलित बोरमा गांव में विशेष वार्षिक पांच दिवसीय विषहरी पूजा जारी है। मंदिर के मुख्य पुजारी ब्यासमुनि पोद्दार, विभीषण पोद्दार, नारद पोद्दार, मां विषहरी सेवा समिति के सदस्यों गांव के युवा महिला कार्यकर्ताओं के गंगास्नान कर वापस लौटने के बाद से ही बुधवार से पूजा शुरू हुई। बुधवार के दिन में पंचायत के विभिन्न गावों के निवासी श्रद्धालुओं ने पूजा-अर्चना किया। शाम संध्या पूजा में महिलाओं की भीड़ अधिक रही। गुरुवार अहले सुबह से ही पूजा करनेवाले पुरुष महिला श्रद्धालुओं की भीड़ शुरू हो गई। सैकड़ों युवाओं महिलाओं पुरुषों ने मन्नतें मांगी। मन्नतें पूरी होने पर सैकड़ों श्रद्धालुओं ने वस्त्र आभूषण फल मिष्टान आदि चढ़ावा चढ़ाया। इलाके सहित मेहरमा प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न गावों के साथ महगामा बोआरीजोर साहेबगंज जिले के मंडरो आदि कई प्रखंडों पड़ोसी राज्य बिहार के भागलपुर एवं कई जिले के सैकड़ों गावों के हजारों श्रद्धालु पूजा-अर्चना ध्यान साधना आरती चढ़ावा चढ़ाने मन्नतें मागने में लगे हैं। शुक्रवार को वृहत रूप से विशेष पूजा होगी । अहले सुबह से शाम तक पूजा होगी। 

ठाकुरगंगटी में वार्षिक पूजा में उमड़ी भीड़

इस गांव में आजादी के पूर्व के समय से ही विषहरी मां के इस मंदिर में पूरे वर्ष पूजा नाग पंचमी के अवसर पर विशेष पूजा होती रही है। मंदिर परिषर को आकर्षक ढंग से सजाया गया है। मंदिर के मुख्यद्वार का भव्य निर्माण किया गया है। मुख्य पुजारी के शरीर पर मां विषहरी मां काली आदि देवी, बजरंगवली आदि देवता आगमन होता है। मां विषहरी के प्रकट होने पर नारद पोद्दार, विभीषण पोद्दार दोनों पुजारी भगत मात्र दो मिनट एक दम में एक ¨क्वटल दूध पी जाते हैं। दूध खत्म होने पर भी इसारे से मांगते हैं तब सभी श्रद्धालु व सहयोगी हाथ जोड़कर क्षमा मांगते हुए करीब एक ¨क्वटल पानी पिलाकर किसी प्रकार अपना ¨पड छुड़ाते हैं। बजरंगवली प्रकट होने पर पूरे शरीर में ¨सदूर लपेटा जाता है। यह मंदिर राज्य स्तर पर प्रचलित है।

Post a comment

0 Comments