खेत में गिरे हुए बिजली तार के संपर्क में आने के बाद छात्र को गंवाना पड़ा हाथ


गोड्डा : एक पखवारे पूर्व विद्यालय जाने के दौरान खेत में गिरे हुए बिजली तार के संपर्क में आने के बाद घायल छह साल के मनोज मरांडी का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा था। जिसकी जान बचाने के लिए आखिरकार चिकित्सकों को उसका दांया हाथ काटना पड़ा। 
आखिर छात्र को गंवाना पड़ा हाथ
मेहरमा प्रखंड के सियारडीह निवासी पिता बुद्धिनाथ मरांडी बताते हैं कि पांच जुलाई को मनोज मरांडी डोय के पास स्थित सोहरी मिशन पढ़ने जा रहा था। उसे खेत होकर स्कूल जाना पड़ता है। स्कूल जाने के क्रम में बहियार में आंधी-बारिश के कारण बिजली का 11 हजार वोल्ट का तार गिरा था। जाने के क्रम में वह गिर गया। जिससे उसका दाहिना हाथ तार की चपेट में आ गया। स्थानीय लोगों ने उसे किसी तरह बचाया और आनन-फानन में उसे सदर अस्पताल लाया। जहां पिछले कई दिन से इलाज चल रहा था। गुरुवार शाम चिकित्सकों ने जरूरत को देखते हुए उसका दाहिना हाथ काट दिया। ऑपरेशन में डॉ. दिलीप कुमार चौधरी, डॉ. अर¨वद कुमार व डॉ. डी के ठाकुर ने तत्परता दिखाते हुए बालक की जान बचाई। सहायक के रूप में राजीव कुमार, जहीर अब्बास, किरण मंडल, रामकुमार मिश्र आदि ने अहम भूमिका निभायी।

"स्पर्शाघात के कारण हाथ में इंफेक्सन हो गया था। जान बचाने के लिए हाथ को काटना आवश्यक था अन्यथा पूरा शरीर ही धीरे-धीरे नाकाम हो जाता।" - डॉ. डीके चौधरी
Labels:
What do you say ?

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.